“Daily Current Affairs G.K. Questions In Hindi 29/June/2019”

“Daily Current Affairs G.K. Questions In Hindi 29/June/2019”

Download Click Here 

 

Que. 01.  हाल ही में किस संगठन ने Healthy States, Progressive India रिपोर्ट जारी की?

 

उत्तर – नीति आयोग

 

Notes :– नीति आयोग ने स्वास्थ्य सूचकांक का दूसरा संस्करण जारी कर दिया है, इस “Healthy States, Progressive India: Report on Rank of States and UTs” नामक रिपोर्ट में जारी किया गया है। इस रिपोर्ट को केन्द्रीय स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्रालय व विश्व बैंक के तकनीकी सहयोग के साथ तैयार किया गया है। इस स्वास्थ्य सूचकांक के लिए 2015-16 को आधार वर्ष तथा 2017-18 को सन्दर्भ वर्ष रखा गया है।

मुख्य बिंदु

श्रेणियां : रैंकिंग निम्नलिखित तीन श्रेणियों में दी गयी है :

बड़े राज्य : इस सूची में केरल प्रथम स्थान पर है, जबकि आंध्र प्रदेश और महाराष्ट्र क्रमशः दूसरे व तीसरे स्थान पर हैं। इस सूची में उत्तर प्रदेश और बिहार सबसे नीचे हैं। 21 राज्यों की रैंकिंग में उत्तर प्रदेश सबसे अंतिम पायदान पर है।

छोटे राज्य : छोटे राज्यों की सूची में मिजोरम पहले स्थान पर है जबकि मणिपुर दूसरे स्थान पर है।

केंद्र शासित प्रदेश : इस सूची में चंडीगढ़ पहले स्थान पर है।

एम्पॉवर्ड एक्शन ग्रुप – इसमें पांच राज्य शामिल हैं : बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश तथा ओडिशा। इन राज्यों के स्वास्थ्य सूचकांक स्कोर में कमी आई है।

सूचक : यह गिरावट कई कारणों से आई है, इसमें कुल प्रजनन दर, निम्न जन्म भार, जन्म लिंगानुपात, टीबी, उपचार सफलता दर, सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधा की गुणवत्ता, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन फण्ड हस्तांतरण में लगने वाला समय इत्यादि प्रमुख है।

सकारात्मक सम्बन्ध : स्वाश्य सूचकांक स्कोर तथा राज्यों के आर्थिक विकास के स्तर के बीच में सकारात्मक सम्बन्ध, अधिक विकसित राज्यों का स्वास्थ्य सूचकांक स्कोर भी बेहतर है।

सुझाव : केंद्र सरकार को सकल घरेलु उत्पाद का 2.5% हिस्सा स्वास्थ्य पर व्यय करना चाहिए, जबकि राज्यों को स्वास्थ्य पर व्यय किये जाने वाले 4.7% बढ़ाकर 8% करना चाहिए।  भारत में सकल घरेलु उत्पाद का 1.15-1.5% हिस्सा स्वास्थ्य पर व्यय किया जाता है।

********************************************************************

Que. 02 . भारतीय तटरक्षक बल के नए प्रमुख कौन होंगे?

 

उत्तर – के. नटराजन

 

Notes :– के. नटराजन को हाल ही में भारतीय तटरक्षक बल का महानिदेशक नियुक्त किया गया है। वे राजेन्द्र सिंह का स्थान लेंगे, वे 30 जून, 2019 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

के. नटराजन

के. नटराजन 1984 बैच के अफसर हैं, उन्होंने विभिन्न स्थानों पर कार्य किया है। वे ICGS मंडपम के कमांडिंग अफसर भी रह चुके हैं। इसके अतिरिक्त वे कोस्ट गार्ड सर्विस सिलेक्शन बोर्ड के चेयरमैन, नीति व नियोजन के प्रधान निदेशक, प्रोजेक्ट्स के प्रधान निदेशक, महानिदेशक के कोस्ट गार्ड एडवाइजर इत्यादि रह चुके हैं। इसके अलावा वे भारतीय तटरक्षक बल के संग्राम (एडवांस्ड ऑफशोर पट्रोल वेसल), वीरा (ऑफशोर पट्रोल वेसल), कनकलता बरुआ (फ़ास्ट पट्रोल वेसल तथा चाँदबीबी (इनशोर पट्रोल वेसल) को कमांड कर चुके हैं।

भारतीय तटरक्षक बल

भारतीय तटरक्षक एक सशस्त्र बल है, यह भारत की समुद्री सीमाओं की रक्षा करता है। इसकी स्थापना 18 अगस्त, 1978 को की गयी थी। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है। इसका आदर्श वाक्य “वयम् रक्षामः” है। भारतीय तटरक्षक बल में 15,714 कर्मचारी कार्यरत्त हैं। भारतीय तटरक्षक बल में 175 वेसल तथा 44 एयरक्राफ्ट हैं।

********************************************************************

Que. 03 . ब्लैक फारेस्ट कप में किस देश की जूनियर महिला टीम को सर्वश्रेष्ठ टीम चुना गया?

 

उत्तर –  भारतीय टीम

 

Notes :– भारतीय महिला जूनियर टीम को ब्लैक फारेस्ट कप में सर्वश्रेष्ठ टीम चुना गया, इस प्रतियोगिता का आयोजन जर्मनी के विल्लिंगजेन में किया गया। इसमें भारतीय खिलाड़ियों में कुल सात पदक जीते, इसमें पांच स्वर्ण पदक भी शामिल हैं। इस प्रतियोगिता में हरियाणा की नेहा (54 किलोग्राम) तथा कर्नाटक की अंजू देवी (50 किलोग्राम) को बेस्ट बॉक्सर तथा प्रोमिसिंग प्लेयर ऑफ़ द टूर्नामेंट चुना गया। इस स्पर्धा में भारत, यूक्रेन, जर्मनी, कजाखस्तान, लाटविया, हंगरी, लिथुआनिया, मंगोलिया, ग्रीस तथा पोलैंड ने हिस्सा लिया।

********************************************************************

Que. 04.  किन देशों ने 2034 में फुटबॉल विश्व कप के आयोजन के लिए दावेदारी प्रस्तुत करने का निर्णय लिया है?

 

उत्तर – आसियान देश

 

Notes :– आसियन देश (दक्षिण पूर्व एशियाई देशों का समूह) ने 2034 में फुटबॉल विश्व कप के आयोजन के लिए दावेदारी प्रस्तुत करने का निर्णय लिया है। इससे पहले एशिया में केवल एक बार ही फुटबॉल विश्व कप का आयोजन किया गया है, 2002 में जापान और दक्षिण कोरिया ने संयुक्त रूप से फुटबॉल विश्व कप का आयोजन किया था। 2022 में फुटबॉल विश्व कप का आयोजन क़तर में किया जायेगा। आसियान देशों में कंबोडिया, इंडोनेशिया, लाओस, मलेशिया, म्यांमार, फिलीपींस, सिंगापुर, थाईलैंड, वियतनाम तथा ब्रूनेई शामिल हैं।

********************************************************************

Que. 05.  2026 में शीतकालीन ओलिंपिक खेलों का आयोजन किस देश में किया जायेगा?

 

उत्तर – इटली

 

Notes :– 2026 में शीतकालीन ओलिंपिक खेलों का आयोजन इटली के मिलान तथा कोर्टिना डी’अम्पेज्जो में किया जायेगा। यह निर्णय स्विट्ज़रलैंड के लौसेन में अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति के 134वें सत्र में लिया गया। 2026 शीतकालीन ओलिंपिक खेलों का आयोजन 6 से 22 फरवरी के दौरान किया जायेगा जबकि पैरालिम्पिक खेलों का आयोजन 6 से 15 मार्च के दौरान किया जायेगा।

********************************************************************

Que. 06. अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति का नया मुख्यालय कहाँ पर स्थित है?

 

उत्तर –  लौसेन

 

Notes :- ओलिंपिक खेलों की 125वीं वर्षगाँठ के अवसर पर स्विट्ज़रलैंड के लौसेन में अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति के नए मुख्यालय का उद्घाटन किया गया।

मुख्य बिंदु

अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति की स्थापना पिएरे डी कोउबेर्तिन द्वारा की गयी थी। इसका उद्देश्य विश्व भर में शांतिपूर्ण प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना था। ओलिंपिक खेल विश्व शान्ति तथा आशा का सूचक है।

ओलिंपिक हाउस का निर्माण पूर्व ओलिंपिक मुख्यालय के स्थान पर किया गया है, इसमें 95% मटेरियल का पुनरुपयोग किया गया है। इस भवन में उर्जा के लिए नवीकरणीय उर्जा के लिए सौर उर्जा का उपयोग किया गया है। इस भवन का निर्माण 145 मिलियन डॉलर की लागत से किया गया है।

अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति

यह एक गैर-सरकारी खेल संस्था है, इसका मुख्यालय स्विट्ज़रलैंड के लौसेन में स्थित है। इसकी स्थापना पिएरे डी कोउबेर्तिन तथा देमेत्रिउस विकेलास ने 23 जून, 1894 को फ्रांस के पेरिस में की गयी थी। यह संस्था ग्रीष्मकालीन तथा शीतकालीन ओलिंपिक खेलों का आयोजन करती है। अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक समिति में 206 राष्ट्रीय ओलिंपिक समितियां सदस्य के रूप से शामिल हैं। इसके मौजूदा अध्यक्ष जर्मनी के थॉमस बाक हैं।

********************************************************************

Que. 07   2019 रेडइंक जौर्नालिस्ट ऑफ़ द ईयर अवार्ड किसे प्रदान किया गया?

 

उत्तर  -रचना खैरा

 

Notes :– ट्रिब्यून न्यूज़ सर्विस की पत्रकार रचना खैरा ने हाल ही में रेड इंक का “जौर्नालिस्ट ऑफ़ द ईयर” का अवार्ड जीता, उन्हें यह पुरस्कार आधार कार्ड के डाटा की सुरक्षा की स्थिति का खुलासा करने के लिए दिया गया है। रचना खैरा वर्तमान में द हफिंगटन पोस्ट के लिए कार्य करती हैं।

 

मुख्य बिंदु

रचना खैरा द्वारा की गयी जांच से ज्ञात हुआ कि लाखों लोगों के आधार कार्ड डाटा में सेंध लगायी जा सकती है। पत्रकारों द्वारा किये गये स्टिंग ऑपरेशन से स्पष्ट है कि UIDAI सर्वर पूर्ण रूप से सुरक्षित नही है। इन रिपोर्ट्स के आधार पर कई जनहित याचिकाएं दायर की गयी।

रेडलिंक अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन इंडियन जर्नलिज्म

इस पुरस्कारों की स्थापना “द मुंबई प्रेस क्लब” द्वारा 2010 में की गयी थी, यह वार्षिक पुरस्कार हैं। यह पुरस्कार पत्रकारिता के क्षेत्र में बेहतरीन योगदान के लिए प्रदान किया जाता है।

इस वर्ष 2019 लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड दो वरिष्ठ सेवानिवृत पत्रकारों – दिनु रणदिव और सेबेस्टियन डी’सूज़ा को प्रदान किया गया। दिनु रणदिव महाराष्ट्र टाइम्स के सेवानिवृत्त पत्रकार हैं। उन्होंने अपने करियर में गोवा स्वतंत्रता संग्राम (1961, बांग्लादेश स्वतंत्रता संग्राम (1970-71) तथा सीमेंट स्कैंडल (1982) जैसी घटनाओं को कवर किया। सेबेस्टियन डी’सूजा ने मुंबई मिरर में फोटो जौर्नालिस्ट के रूप में कार्य किया।

********************************************************************

Que. 08.  हाल ही में किस अन्तरिक्ष एजेंसी ने मंगल ग्रह पर मीथेन के उच्च स्तरों का पता लगाया है?

 

उत्तर – नासा

 

Notes :- अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी नासा के क्यूरोसिटी रोवर ने मंगल ग्रह पर अब तक के सबसे विशाल मीथेन भंडार का पता लगाया है।

मुख्य बिंदु

मीथेन स्तर : हालांकि नासा के मार्स एक्सप्लोरेशन के कार्यक्रम के दौरान क्यूरोसिटी टीम द्वारा कई बार मीथेन का पता लगाया गया है, परन्तु इस बार काफी विशाल मीथेन भंडार का पता चला है। यह भंडार 21 पार्ट्स पर बिलियन यूनिट्स बाय वॉल्यूम (ppbv) है। 1 ppbv का अर्थ है यदि हम मंगल ग्रह पर वायु के एक वॉल्यूम को लेते हैं तो इसमें 1 अरबवां हिस्सा मीथेन होगा।

यह खोज इतनी महत्वपूर्ण क्यों है?

मीथेन के इतने बड़े भंडार का पता लगना काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि पृथ्वी पर मीथेन का एक महत्वपूर्ण स्त्रोत सूक्ष्म जीव हैं। इस खोज से वैज्ञानिकों को पृथ्वी के बाहर जीवन की सम्भावना को खोजने में सहायता मिलेगी।

दुविधा : मंगल ग्रह पर मीथेन का निर्माण चट्टान तथा जल की अन्तरक्रिया के द्वारा भी हो सकता है। क्यूरोसिटी रोवर में इस प्रकार के उपकरण नहीं लगे हैं जो यह पता कर सके कि वास्तव में इस मीथेन का स्त्रोत क्या है। पिछले कई वैज्ञानिकों शोधों से ज्ञात हुआ है कि मीथेन के स्तर में लगातार कमी-वृद्धि होती रहती है, परन्तु इसका कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है।

क्यूरोसिटी रोवर

यह नासा के मार्स साइंस लेबोरेटरी मिशन का हिस्सा है। क्यूरोसिटी रोवर एक कार के बराबर का रोवर है, इसे मंगल ग्रह के एक क्रेटर “गेल” के अन्वेषण के लिए बनाया गया है। इसे 26 नवम्बर, 2011 को लांच किया गया था। यह अगस्त, 2012 में गेल क्रेटर के अन्दर एओलिस पालुस में लैंड हुआ था। इस रोवर का जीवनकाल हालांकि एक मंगल वर्ष (687 दिन) था, परन्तु अब इसे अनिश्चित काल के लिए बढ़ा दिया गया है। यह आज (25 जून, 2019) को भी कार्यशील है।

********************************************************************

Que. 09.  हाल ही में मोहन रानाडे का निधन हुआ, वे किस राज्य से थे?

 

उत्तर – महाराष्ट्र

 

Notes :– गोवा की स्वतंत्रता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले स्वतंत्रता सेनानी मोहन रानाडे का निधन पुणे में 90 वर्ष की आयु में हुआ।

मोहन रानाडे

उनका जन्म महाराष्ट्र के सांगली में 1929 में हुआ था। वे गणेश दामोदर सावरकर तथा विनायक सावरकर से काफी प्रेरित थे। उन्होंने 1950 में गोवा के स्वतंत्रता संग्राम में हिस्सा लेने के लिए प्रवेश किया। उन्होंने आजाद गोमान्तक दल की स्थापना की, इस दल ने पुर्तगालियों के विरुद्ध सशस्त्र विद्रोह किया। एक आक्रमण के दौरान वे घायल हुए और 1955 में उन्हें पुर्तगालियों द्वारा गिरफ्तार किया गया। उन्हें 1969 में स्वतंत्र किया गया था। उन्हें सामाजिक कार्य के लिए 1986 में गोवा पुरस्कार प्रदान किया गया। उन्हें वर्ष 2001 में पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

पृष्ठभूमि

पुर्तगाली भारत में 1510 में आये, उन्होंने पश्चिमी तट के कई क्षेत्रों में अपना आधिपत्य स्थापित किया। 19वीं शताब्दी के अंत तक पुर्तगालियों ने गोवा, दमन, दिउ, दादरा, नगर हवेली और अन्जेदिवा द्वीप पर कब्ज़ा कर लिया था। भारत की स्वतंत्रता के बाद तत्कालीन सरकार ने गोवा को भारत में शामिल करने के लिए पुर्तगालियों से बातचीत का मार्ग चुना। परन्तु यह माध्यम सफल नहीं हो सका। अंत में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरु ने भारतीय सशस्त्र सेनाओं को बलपूर्वक गोवा को भारत में शामिल करने के आदेश दिया। 18-19 दिसम्बर, 1961 को भारतीय सेना ने सैन्य ऑपरेशन चलाया और गोवा को सफलतापूर्वक भारत में शामिल करवाया।

गोवा की मुक्ति के बाद 1963 में भारत की संसद ने गोवा को भारत में आधिकारिक रूप से शामिल करने के लिए 12वां संवैधानिक संशोधन पारित किया। इसके द्वारा गोवा, दमन व दिउ तथा दादरा व नगर हवेली को केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया। 1987 में गोवा को दमन व दिउ से अलग करके एक पूर्ण राज्य का दर्जा दिया गया।

********************************************************************

Que. 10. हाल ही में किस राज्य सरकार ने प्रभावशाली बाढ़ प्रबंधन के लिए बाढ़ एटलस लांच की?

उत्तर – ओडिशा

 

Notes :- ओडिशा में हाल ही में बाढ़ के खतरे की जानकारी के लिए एटलस (मानचित्रावली) जारी की गयी, इससे सैटेलाइट चित्रों की सहायता से तैयार किया गया है। इसकी सहायता से ओडिशा में बाढ़ के प्रबंधन को कुशलतापूर्वक किया जा सकेगा। इस एटलस को ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक द्वारा राज्य स्तरीय बैठक में लांच किया गया।

मुख्य बिंदु

यह एटलस नीति निर्माताओं, योजना निर्माताओं तथा सिविल सोसाइटी समूहों के लिए काफी उपयोगी सिद्ध होगी। इस एटलस को 2001 से 2018 तक के बाढ़ सम्बन्धी डाटा के आधार पर तैयार किया गया है।

ओडिशा में प्रतिवर्ष काफी बाढ़ आती है, ओडिशा की प्रमुख नदियाँ महानदी, सुबर्णरेखा, ब्राह्मणी, रुशिकुल्या तथा बैतरणी है। बाढ़ के कारण सर्वाधिक नुकसान महानदी, ब्राह्मणी तथा बैतरणी नदी के कारण होता है।

ओडिशा के कुछ एक पश्चिमी व दक्षिण जिलों में फ़्लैश फ्लड की समस्या काफी प्रचलित है। 2001 से 2018 के बीच ओडिशा का 8.96% (13.36 लाख हेक्टेयर) क्षेत्र बाढ़ से प्रभावित था।

********************************************************************

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *